Sunday, February 21, 2016

नतमस्‍तक मोदक की नाजायज औलादें- 45

प्रश्‍न: ये ति‍रंगे में तीन रंग क्‍यों होते हैं?
उत्‍तर: तुम चूति‍या हो!
प्रश्‍न: ये सवाल का जवाब नहीं!!
उत्‍तर: अबे ति‍रंगे में तीन रंग नहीं होते हैं!
प्रश्‍न: तो कि‍तने होते हैं?
उत्‍तर: ति‍रंगे में चार रंग होते हैं!
प्रश्‍न: चार क्‍यों होते हैं?
उत्‍तर: अबे तीन अशुभ होता है ना!
प्रश्‍न: आप ति‍रंगे को शुभ मानते हैं?
उत्‍तर: तुम्‍हरी तरह देशद्रोही थोड़े हैं?
प्रश्‍न: पहले तो आप इसे कलंक मानते थे?
उत्‍तर: भारत माता की जै!!
प्रश्‍न: बताइये ना, पहले तो कलंक था!!
उत्‍तर: कलंक तो तुम हो भो*** के!!
प्रश्‍न: वो कैसे??
उत्‍तर: जो ति‍रंगे पे सवाल उठाएगा, देशद्रोही बन जाएगा!!
प्रश्‍न: आपने ही कहा था कि ये हिंदुओं का झंडा नहीं?
उत्‍तर: हरा हटा दो!
प्रश्‍न: हरा हटाने से क्‍या होगा?
उत्‍तर: हिंदुओं का हो जाएगा!
प्रश्‍न: लेकि‍न हरा कभी नहीं हटेगा!
उत्‍तर: हटेगा!
प्रश्‍न: राष्‍ट्रध्‍वज नहीं बदल सकता!
उत्‍तर: पीएम बदल दि‍या भो** के!!
प्रश्‍न: पीएम राष्‍ट्र नहीं है!!
उत्‍तर: राष्‍ट्र नहीं है त का मुहल्‍ला है बहि‍न***!!
प्रश्‍न: प्रधान सेवक है!!
उत्‍तर: गां** में दम हो तो करा के देखो एक बार!!
प्रश्‍न: क्‍या?
उत्‍तर: सेवा और का? गां*** तोड़ दी जाएगी तुम्‍हारी!
प्रश्‍न: आप तो ति‍रंगे को देश के लि‍ए घातक मानते थे?
उत्‍तर: बहुत जल्‍द हरा हटाएंगे!
प्रश्‍न: सफेद और काले का क्‍या करेंगे?
उत्‍तर: कटुओं की गां**** कि‍स दि‍न काम आएगी?
प्रश्‍न: तब तो ति‍रंगा ही नहीं रहेगा!
उत्‍तर: पूरा देश का नि‍शान एक रंग का होगा!
प्रश्‍न: कि‍स रंग का?
उत्‍तर: संतरा देखे हो?
प्रश्‍न: नागपुरी?
उत्‍तर: बेटी*** अब संतरा सब जगह मि‍लता है!
प्रश्‍न: नागपुरी फेमस है?
उत्‍तर: काहे नहीं होगा.. पूरा देश में सप्‍लाई करते हैं!!
प्रश्‍न: नफरत और गाली गलौच?
उत्‍तर: ये सब तुम्‍हारी हरकत है!
प्रश्‍न: मैनें कभी गाली गलौच नहीं की!
उत्‍तर: मुंह धो के आओ भो*** के, फि‍र बात करना!
प्रश्‍न: नागपुर में ति‍रंगा क्‍यों नहीं लगाया?
उत्‍तर: क्‍यों नहीं लगाया??
प्रश्‍न: आप बताइये क्‍यों नहीं लगाया?
उत्‍तर: पाकि‍स्‍तान में ति‍रंगा क्‍यों नहीं लगाया?
प्रश्‍न: ये सवाल का जवाब नहीं!
उत्‍तर: कश्‍मीर में क्‍यों नहीं लगाया?
प्रश्‍न: ये भी जवाब नहीं!
उत्‍तर: अपनी गां*** में क्‍यों नहीं लगाया?
प्रश्‍न: वहां नहीं लगाया जाता!
उत्‍तर: हम तो लगाते हैं!
प्रश्‍न: कैसे?
उत्‍तर: झुको!
प्रश्‍न: मतलब अब राष्‍ट्रीय झंडा भगवा होगा?
उत्‍तर: अंधे की झां*** दि‍खता नहीं बे?
प्रश्‍न: अशोक चक्र कहां जाएगा ?
उत्‍तर: अबे इतनी बड़ी गां*** लेके घूमते हो!
प्रश्‍न: भगवा क्‍या हिंदुओं का रंग है?
उत्‍तर: तुम जैसे गद्दारों को नहीं दि‍खेगा!
प्रश्‍न: फि‍र चटक लाल और काले का क्‍या होगा?
उत्‍तर: हे हे हे.... सही बताओ क्‍या करते हो जो इत्‍ती बड़ी हो गई?
प्रश्‍न: कुछ नहीं!
उत्‍तर: एक बार हमारे पास भी आ जाओ!
प्रश्‍न: आप तो एलजीबीटी राइट्स के वि‍रोधी हैं!
उत्‍तर: तुम चूति‍या हो!
प्रश्‍न: वो कैसे?
उत्‍तर: ई वि‍रोध हम खांग्रेसि‍यों से सीखे!
प्रश्‍न: अब तो मैं हूं चूति‍या!!
उत्‍तर: तो आओ लल्‍ला, खोलो गल्‍ला!! 

Post a Comment