Wednesday, February 17, 2016

नतमस्‍तक मोदक की नाजायज औलादें- 43

प्रश्‍न: आप टैक्‍स भरते हैं?
उत्‍तर: तुम्‍हरी तरह चोर नहीं हैं बे!!
प्रश्‍न: पूरा भरते हैं?
उत्‍तर: तुम्‍हरी तरह चूति‍या नहीं हैं बे!!
प्रश्‍न: मतलब?
उत्‍तर: घर फूंक तुम तमाशा देखो
प्रश्‍न: पूरा टैक्‍स भरना घर फूंकना है?
उत्‍तर: पहले अंबानी से बोलो!
प्रश्‍न: क्‍या बोलूं?
उत्‍तर: कि पूरा टैक्‍स भरे!
प्रश्‍न: आपकी सरकार है, भूल गए?
उत्‍तर: अब तुम हमको याद दि‍लाओगे बहि‍न***??
प्रश्‍न: आप क्‍यों नहीं बोलते अंबानी से?
उत्‍तर: हम सीधे करते हैं!
प्रश्‍न: क्‍या करते हैं?
उत्‍तर: दि‍ख नई रहा, करके दि‍खाएं फि‍र से?
प्रश्‍न: जैसे कचेहरी में करते हैं?
उत्‍तर: अबे तुम्‍हरे साथ तो उससे भी अच्‍छा करेंगे!
प्रश्‍न: कचेहरी में कि‍ए पर जरा भी शर्म नहीं?
उत्‍तर: हमें अफसोस है।
प्रश्‍न: क्‍या अफसोस है?
उत्‍तर: बच गया मादर***!!
प्रश्‍न: कचेहरी में भी आपको कानून का डर नहीं?
उत्‍तर: कचेहरी में कैसा डर गधे?
प्रश्‍न: कोर्ट और जज से भी डर नहीं?
उत्‍तर: होनोलूलू से आए हो का?
प्रश्‍न: नहीं, अजरबैजान से!
उत्‍तर: ये कहां है?
प्रश्‍न: इसी दुनि‍या में है!
उत्‍तर: अच्‍छा। बोलना मि‍ले हमसे।
प्रश्‍न: वो क्‍यों मि‍ले?
उत्‍तर: अच्‍छे दि‍न सप्‍लाई कर रहे हैं!
प्रश्‍न: क्‍यों, आपके पास ज्‍यादा हो गए क्‍या?
उत्‍तर: वादा कि‍या था वादा!
प्रश्‍न: यही हैं वादे वाले अच्‍छे दि‍न?
उत्‍तर: अबे अभी और देखना!
प्रश्‍न: और क्‍या?
उत्‍तर: अभी तो और भी अच्‍छे दि‍न आ रहे हैं!
प्रश्‍न: क्‍या होगा उन अच्‍छे दि‍नों में?
उत्‍तर: अफसोस तो बि‍लकुल नहीं होगा!
प्रश्‍न: 15 लाख मि‍लेंगे?
उत्‍तर: लात खाओगे?
प्रश्‍न: ये वो वाले अच्‍छे दि‍न नहीं क्‍या?
उत्‍तर: हि‍साब आता है?
प्रश्‍न: इसका सवाल से क्‍या मतलब?
उत्‍तर: सफाई होगी तो सब बंटेगा ना!
प्रश्‍न: कि‍सकी सफाई?
उत्‍तर: तुम सबकी सफाई बेटी***!!
प्रश्‍न: और बांटेंगे क्‍या?
उत्‍तर: सफाई से जो बचेगा!
प्रश्‍न: ऐसी सफाई में कौन बचेगा?
उत्‍तर: जो पापी नहीं होगा!
प्रश्‍न: और पापी तो सब हैं?
उत्‍तर: सब नहीं हैं!
प्रश्‍न: सब कौन नहीं हैं?
उत्‍तर: जो पापा कहते हैं, वो पापी नहीं हैं! 

Post a Comment