Sunday, December 1, 2013

महान भारतीय जनता

गुरि‍ल्‍ला ट्रेनिंग
-----------
परसों की बात है। Yuva Deep दा ने यहां (नॉर्वे के टमेरलान में) भेड़ें चराने का वादा कि‍या, पर खि‍चड़ी खि‍ला दी। ...नहीं आए।

मजबूरी में मुझे और डा. Bharat को भेड़ों को लेकर नि‍कलना पड़ा। हमारी भेड़ों पर जंगल में मौजूद चंद नारंगी गुरि‍ल्‍लाओं ने हमला कर दि‍या।

वो हमारी भेड़ तेरेना के पीछे पड़े थे और दोषि‍यों पर खुद कार्यवाही करने की बात कह रहे थे।तेरेना छोटी सी प्‍यारी सी भेड़ है।
हमने तेरेना को बचाते हुए गुरि‍ल्‍लाओं की फौज पर हमला कर दि‍या और उन्‍हें ट्रेनिंग दी कि वो भेड़ों के चरते समय पेड़ पर ही बैठे रहें। मुझे लगा कि इसी की जरूरत महान भारतीय जनता
को भी है... — in Telemark, Norway.

Post a Comment