Friday, July 3, 2015

नतमस्तक मोदक की नाजायज औलादें (32)

प्रश्‍न: देशद्रोही...
उत्‍तर: सुनो भो*** के, तुम्‍हरे मुंह में गधे का लं*** मादर*** अगर ये शब्‍द बोले
प्रश्‍न: लेकि‍न मैनें तो पूछा..?
उत्‍तर: दें का तुम्‍हरी गां*** पे पचास लात?
प्रश्‍न: आप मुझे सवाल पूछने देंगे या नहीं?
उत्‍तर: तो भो*** के सवाल ही पूछो, ज्‍यादा झंटुआओ ना
प्रश्‍न: मेरा सवाल था?
उत्‍तर: नहीं भो*** के, पहि‍ले ये बताओ कि हमरा कुरता कैसा लग रहा है?
प्रश्‍न: सूती है?
उत्‍तर: लि‍नेन है। सुने कभो नाम। तुम भो*** के का सुने होगे? जिंदगी तो सुति‍ये पे कटी तुम्‍हरी
प्रश्‍न: खैर, मैनें पूछा देशद्रोही समझते हैं?
उत्‍तर: समझते भी हैं, समझाते भी हैं। समझाएं का?
प्रश्‍न: हां, समझाइए!
उत्‍तर: लाओ रे वि‍जयवा, वहीं कोने पे रखे हैं तेल लगा के। इनकी गां** में देते हैं, भक से समझेंगे
प्रश्‍न: शब्‍दों से ही समझाइये!
उत्‍तर: देशद्रोही ऊ सब जो हमरे भगवान का पूजा नहीं करता है
प्रश्‍न: भगवान राम?
उत्‍तर: वहू भी
प्रश्‍न: ओह.. अच्‍छा.. वो वाले!!
उत्‍तर: ये जो तुम्‍हरा ओह... अच्‍छा... है ना, दुबारा बोले तो वापस तुम्‍हरी गां** में घुसेड़ देंगे भो.. के
प्रश्‍न: आज आप काफी गर्म हैं?
उत्‍तर: तुम्‍हें देख के हमरी झां*** लाल हो जाती है बहिन***
प्रश्‍न: चलि‍ए, मुझे देख कुछ तो लाल होता है आपका!
उत्‍तर: लाल करना भी आता है हमको, समझे?
प्रश्‍न: संस्‍कार समझते हैं क्‍या होता है?
उत्‍तर: खूब समझते हैं लेकि‍न झां*** नहीं बताएंगे
प्रश्‍न: आपको लगता है कि आपमें हैं वो?
उत्‍तर: तो का सबको अपनी तरह कुसंस्‍कारी समझे हो बेटी***?
प्रश्‍न: आपके भगवान ने बेटी बचाओ अभि‍यान शुरू कि‍या है?
उत्‍तर: हां तो बचा रहे हैं ना
प्रश्‍न: कैसे?
उत्‍तर: कौनो भो*** का मादर*** हमारी बहू बेटि‍यों और माताओं बहनों की तरफ आंख उठा के देखे तो बताएंगे
प्रश्‍न: क्‍या बताएंगे?
उत्‍तर: उसकी मां चो*** देंगे बहि‍नचो** की।
प्रश्‍न: और?
उत्‍तर: पूरे घर में नाच नाच के सबका रेप न कि‍ए तो हम एक बाप की औलाद नहीं!
प्रश्‍न: आपने सेल्‍फी ली?
उत्‍तर: साढ़े तीन सौ लोड कर दि‍ए
प्रश्‍न: आपकी बच्‍ची है?
उत्‍तर: हां है
प्रश्‍न: बड़ी है?
उत्‍तर: हां है
प्रश्‍न: उसके बाद एक और बच्‍ची है?
उत्‍तर: हां तो?
प्रश्‍न: उसके बाद क्‍या आपको कोई लड़का है?
उत्‍तर: हां है, लेकि‍न भो*** के तुम ये सब काहे पूछ रहे हो?
प्रश्‍न: कुछ नहीं। खैर, बहि‍न हैं आपकी?
उत्‍तर: तुम्‍हारी कि‍तनी बहि‍नें हैं?
प्रश्‍न: सवाल मैनें पूछा!
उत्‍तर: क्‍या उम्र क्‍या है उनकी?
प्रश्‍न: देखि‍ए...
उत्‍तर: क्‍या देखि‍ए बहि‍नचो***? हम पूछ रहे हैं तो लग रही है?
प्रश्‍न: अच्‍छा एक बात बताइये?
उत्‍तर: क्‍या?
प्रश्‍न: क्‍या कभी आपने दूसरी आइडी बनाई?
उत्‍तर: तुमको काहे बताएं बे?
प्रश्‍न: तो कि‍से बताएंगे?
उत्‍तर: जि‍से बताना होगा उसे बताएंगे, तुमको काहे बताएं?
प्रश्‍न: कि‍से बताना होता है?
उत्‍तर: कि‍सी को भी बताना होता है, तुमको काहे बताएं भो*** के?
प्रश्‍न: मतलब कोई है?
उत्‍तर: क्‍या मतलब कोई है?
प्रश्‍न: कुछ नहीं, कि‍सी और के साथ सेल्‍फी लि‍ए?
उत्‍तर: तुमको काहे दि‍खाएं बेटी***?? चार गांव गाओगे!!
प्रश्‍न: अरे मैं कि‍सी से न कहूंगा!
उत्‍तर: अच्‍छा देखो, ये वाली.. है ना माल
प्रश्‍न: ये कौन है?
उत्‍तर: पिछले बिफ्फय को यही थी
प्रश्‍न: मतलब?
उत्‍तर: ज्‍यादा मतलब पूछो कि बताएं हाल झारखंडी का?
प्रश्‍न: और उसके पीछे वाली के साथ भी ली थी?
उत्‍तर: हां, देखो, इसका गाल का ति‍ल एकदम्‍मे मादर*** है ना?
प्रश्‍न: बेटी कैसे बचाएंगे?
उत्‍तर: सबकी मां चो*** के बचाएंगे, कैसे भी बचाएंगे लेकि‍न बचाएंगे
प्रश्‍न: फिर भी, कोई प्‍लान तो होगा?
उत्‍तर: इन कटुओं को साफ करेंगे। मां भारती की धरती को पाप से हरेंगे.
प्रश्‍न: उनकी भी तो बेटि‍यां हैं?
उत्‍तर: उनकी बेटि‍यां नहीं, ऊ सब बच्‍चा पैदा करने की मशीन हैं.
प्रश्‍न: लेकि‍न आप भी तो सात बहन नौ भाई हैं?
उत्‍तर: तो का चाहते हो मादर***?? तुमसे हमारा कुनबा हजम नहीं होता!!
प्रश्‍न: नहीं, ऐसा बि‍लकुल नहीं!
उत्‍तर: नहीं, अइसा ही है बहि‍न के लौ**
प्रश्‍न: मैं आपकी गालि‍यों पर ध्‍यान नहीं देता!
उत्‍तर: इसपे तो ध्‍यान दे रहे हो ना?
प्रश्‍न: इसपे कि‍सपे?
उत्‍तर: ई देखो, ई मोटा मूसलचंद दि‍खाई दे रहा है?
प्रश्‍न: हां तो?
उत्‍तर: तो नि‍कलोगे या घुसेड़ें तुम्‍हारी मां की चू** में?
प्रश्‍न: आप गलत कह रहे हैं!
उत्‍तर: रे वि‍जयवा, पकड़ सारे का एकरी महतारी का चो***
प्रश्‍न: . .......

Post a Comment