Saturday, September 22, 2012

थोडा सा झूठ

1
थोडा सा झूठ,
जो मैनें परसों मांगा था,
सिर्फ उधार।
आज जब लौटाने की बात आई
तो सच कैसे बन गया...

2
थोडा सा झूठ,
जो मैनें कल दि‍या था तुम्‍हें,
तुम्‍हारी पोटली में बैठकर सच कैसे बन गया...

3
थोडे थोडे से झूठ,
जो हम रोजमर्रा में दि‍या करते, लि‍या करते
रोजमर्रा के सच
कैसे बन गए...

4
थोडा सा झूठ,
मुझे ज्‍यादा करके दो।
और सुनो,
कि‍सी से कहना मत। 

Post a Comment