Friday, July 31, 2009

मिल गया एक कनेक्शन

चंद लाइने हैं जो शायद ख़ुद को मुबारक बाद देने के लिए हैं, या फ़िर एक बीते हुए युग को याद करके उसे दोबारा वापस पाने की खुशी मे हैं.. मुझे एक इंटरनेट कनेक्शन मिल गया है, जाहिर है, अब ब्लॉग्गिंग फ़िर से शुरू हो सकती है, तकरीबन शुरू हो चुकी है। बजार खुल चुका है... देर है तो अभी दुकानों के लगने की। वैसे शनि बजार की मानिंद सुबह सुबह ही तख्ते गिरने शुरू हो गए हैं.... मिस्टर बजार .... मुबारक हो....

Post a Comment